All for Joomla All for Webmasters
16
Mon, Sep

Movie Review: देश के प्रति गर्व पैदा करती है 'परमाणु'

Typography

सिनेमिर्ची : 'परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण' की कहानी:डायरेक्टर अभिषेक शर्मा की फिल्म 'परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण' शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो  गई हैं। फिल्म 1998 पोखरण परमाणु परीक्षण पर बनी है। फिल्म सच्ची घटना पर आधारित है, जिसमें दिखाया गया है कि कैसे यूएस द्वारा सेटेलाइट के माध्यम से नजर रखने के बावजूद इंडियन साइंटिस्ट परमाणु परीक्षण को सफलतापूर्वक अंजाम देते हैं। फिल्म की कहानी शुरू होती है जब प्रधानमंत्री के ऑफिस में चीन के परमाणु परीक्षण के बारे में बातचीत चल रही होती है। तभी आईएएस ऑफिसर अश्वत रैना (जॉन अब्राहम) भारत को भी एक न्यूक्लियर पावर बनने की सलाह देते हैं।

देशभक्त रैना परमाणु परीक्षण के लिए अपना परफेक्ट प्लान बनाता है लेकिन भ्रष्ट नेता द्वारा उनका प्लान चोरी कर लिया जाता है। परीक्षण सफल नहीं हो पाता और रैना को बर्खास्त कर दिया जाता है। लेकिन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की देखरेख में तीन साल बाद दोबारा परमाणु परीक्षण करने का प्लान बनाया जाता है। और इर बार इस बात का खास ध्यान रखा जाता है कि यूएस को इसकी भनक तक न लगे। रैना 4 स्मार्ट साइटिंस्ट और एक्सपर्ट, जिसमें अम्बालिका (डायना पेंटी) भी टीम का पार्ट होती है, के साथ मिलकर काम को अंजाम देने की प्लानिंग करता है। इसी बीच रैना की वाइफ (अनुजा साठे) जो इन सब बातों से अंजान है, हसबैंड पर शक करती है कि वो उसे धोखा दे रहा है। इसी दौरान आईएसआई और सीआईए के एजेंट इंडिया द्वारा किए जा रहे परमाणु परीक्षण की खोजबीन में लग जाते हैं।


'परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण' का रिव्यू: डायरेक्टर अभिषेक शर्मा ने परमाणु परीक्षण की सीक्रेट स्टोरी को बिना किसी थ्रील के साथ पेश किया है। सबसे अच्छी बात यही है कि दुनिया की नजरों से अब तक छुपी हुई इस कहानी को कहने का अंदाज भी अच्छा है। अभिषेक ने साईवेन क्यूड्रास और सयुंक्ता चावला शेख के साथ फिल्म की स्क्रिप्ट लिखी है। तीनों ने मिलकर फिल्म में ढेर सारा मसाला डालने की कोशिश की है। 
अभिषेक ने फिल्म में रियल फुटेज का भी यूज किया है, जिसमें नेता का भाषण है। वहीं, अटल बिहारी वाजपेकी की फोटोज और एपीजे अब्दुल कलाम की फोटोज भी दिखाई गई है, जिन्होंने इस मिशन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। पहली बार बॉलीवुड की किसी फिल्म में यूएस की टांग खींची गई है। शर्मा, जिन्होंने 'तेरे बिन लादेन' जैसी कॉमेडी फिल्म को डायरेक्ट किया है, उनकी ये फिल्म देखकर लगता है कि उन्होंने इस फिल्म को बनाने में काफी स्ट्रगल किया है। जॉन ने अपने किरदार के साथ इंसाफ किया है। वहीं, फिल्म में डायना पेंटी के लिए करने को कुछ भी नहीं था। पेंटी को देखकर लगता है कि उन्होंने अपने किरदार को निभाने में खास मेहनत नहीं की। यदि आप पममाणु परीक्षण से जुड़े इतिहास के बारे में जानना चाहते है तो जरूर देखने जाएं।

 

Critics Rating 
  • Genre: हिस्टोरिकल एक्शन ड्रामा
  • Director: अभिषेक शर्मा
  • Plot: डायरेक्टर अभिषेक शर्मा की फिल्म 'परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण' शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है।
क्रिकिट रेटिंग 3/ 5
स्टार कास्ट जॉन अब्राहम, डायना पेंटी, बोमन ईरानी, अनुजा साठे
डायरेक्टर अभिषेक शर्मा
प्रोड्यूसर जेए एंटरटेनमेंट, जी स्टूडियो, केवायटीए प्रोडक्शन
म्यूजिक सचिन-जिगर
जोनर हिस्टोरिकल एक्शन ड्रामा
ड्यूरेशन 128 मिनट