22
Mon, Jul
0 New Articles

कंगना रनौत के वकील ने जारी किया पत्रकार के खिलाफ नोटिस, बहन रंगोली ने कहा ये

जजमेंटल है क्या के एक इवेंट में पत्रकार के साथ कंगना रनौत के विवाद का मामला काफी सुर्ख़ियों में है. अब इस पूरे मामले में कंगना की ओर से पत्रकार के खिलाफ लीगल एक्शन लिए जाने की बात सामने आ रही है.

Typography
कंगना रनौत और पत्रकार के बीच हुआ विवाद काफी चर्चा में है. जजमेंटल है क्या के एक इवेंट के दौरान एक पत्रकार से बहस के बाद ये मामला काफी चर्चा में है. इस मामले में जजमेंटल है क्या का निर्माण कर रहे बालाजी फिल्म्स ने स्टेटमेंट जारी कर खेद प्रकट किया था.
इसके बाद कंगना का इंस्टाग्राम पर एक वीडियो आया जिसमें उन्होंने मीडिया में एक खेमे से विरोध करने वाले पत्रकारों को खरी खोटी सुनाई और कहा कि उन्हें एंटी नेशनल पत्रकारों के बैन की धमकी से डर नहीं लगता.

अब इस मामले में रिपोर्ट्स ये हैं कि कंगना रनौत ने पत्रकार के खिलाफ अपने वकील के जरिए मानहानि का लीगल नोटिस जारी किया है. नोटिस में कहा गया है कि कुछ पत्रकार जर्नलिस्टिक नॉर्मस का उल्लंघन कर रहे हैं, क्रिमिनल एक्टीविटी कर रहे हैं. कंगना के वकील ने आरोप लगाया कि ये पत्रकार उनकी क्लाइंट की खुलेआम मानहानि कर रहे हैं और उन्हें परेशान कर रहे हैं.

इतना ही नहीं नोटिस में ये भी कहा गया है दुर्भाग्य से ऐसे पत्रकार अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का इस्तेमाल लोगों की छवि खराब करने के लिए कर रहे हैं. इतना ही नहीं एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट्स गिल्ड ऑफ इंडिया को अनरजिस्टर बताते हुए नोटिस में उस पर भी सवाल उठाए गए हैं. जारी की गई एक वीडियो में कंगना ने भी एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट्स गिल्ड ऑफ इंडिया पर सवाल उठाए थे.

नोटिस के मुताबिक, कुछ जर्नलिस्ट जो गलत चीजें फैला रहे हैं और क्रिमिनल एक्ट में शामिल हो रहे हैं उनका साथ न दिया जाए. बताते चलें कि पत्रकार से विवाद के बाद एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने कंगना रनौत और निर्माताओं को पत्रकार से माफी मांगने को कहा था. ऐसा नहीं करने पर कंगना और जजमेंटल है क्या के मीडिया इवेंट्स को कवर न करने की बात कही गई थी.

कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल ने मानहानि के नोटिस को ट्वीट कर लिखा, "सर ये दुकान को बंद करवाएंगे और इनको जेल भी भिजवाएंगे क्रिमिनल कहीं के. इनकी हिम्मत कैसे हुई कंगना को डराने, धमकाने और बदनाम करने की."



Sign up via our free email subscription service to receive notifications when new information is available.