15
Mon, Oct
15 New Articles

बत्ती गुल मीटर चालू की कहानी

बत्ती गुल मीटर चालू की कहानी

मिर्च मसाला
Typography
टॉयलेट- एक प्रेम कथा नामक हिट फिल्म में निर्देशक श्री नारायण सिंह ने गांव में शौचालय की शोचनीय स्थिति पर फिल्म बनाई थी अब वे बिजली और बिजली के बढ़े हुए बिलों का मुद्दा अपनी आगामी फिल्म 'बत्ती गुल मीटर चालू' में उठा रहे हैं। फिल्म के नाम से ही स्पष्ट है कि बत्ती तो मिलती नहीं है, लेकिन बिल जरूर मिल जाता है और वो भी अनाप-शनाप।

बैनर : टी-सीरिज़ सुपर कैसेट्स इंडस्ट्री लि.
निर्माता : नितिन चंद्रचूड़, श्री नारायण सिंह, कुसुम अरोरा, निशांत पिट्टी, कृष्ण कुमार, भूषण कुमार
निर्देशक : श्री नारायण सिंह
संगीत : अनु मलिक, संचेत टंडन, परम्परा बैंड, नुसरत फतेह अली खान, रोचक कोहली
कलाकार : शाहिद कपूर, श्रद्धा कपूर, यामी गौतम, दिव्येंदु शर्मा, फरीदा जलाल, सुधीर पांडे, सुप्रिया पिलगांवकर‍
रिलीज डेट : 21 सितम्बर 2018


शाहिद कपूर इसमें सुशील कुमार पंत उर्फ एसके की भूमिका में हैं। उत्तराखंड के एक छोटे शहर में रहने वाला एसके बिजली के खराब मीटर्स और उसकी रीडिंग के आधार पर बनाए गए उटपटांग बिलों के खिलाफ लड़ता है।

अदालत में एसके के सामने एडवोकेट गुलनार (यामी गौतम) होती है। एसके को मुकदमा लड़ने में मदद उसकी प्रेमिका ललिता नौटियाल (श्रद्धा कपूर) देती है। किस तरह से एसके बिजली विभाग में फैले भ्रष्टाचार, लालफीताशाही और असुविधा के खिलाफ लड़ता है यह फिल्म का सार है।

इस फिल्म के लिए श्रद्धा कपूर हीरोइन के रूप में पहली पसंद नहीं थीं। उनका यह रोल कैटरीना कैफ, इलियाना डीक्रूज और सोनाक्षी सिन्हा को ऑफर किया गया था, लेकिन तीनों ने ही मना कर दिया।



Sign up via our free email subscription service to receive notifications when new information is available.