All for Joomla All for Webmasters
05
Fri, Jun

लव आज कल : फिल्म समीक्षा

इम्तियाज़ अली को हमेशा रोमांटिक फिल्में बनाना पसंद रहा है और लव आज कल लेकर फिर वे हाजिर हैं। इसी नाम की उन्होंने पहले भी फिल्म बनाई थी जिसमें समय के दो अलग-अलग दौर में होने वाले प्यार और तरीके को लेकर उन्होंने तुलना की थी।

छिछोरे : फिल्म समीक्षा

कॉलेज लाइफ पर बनी हुई फिल्में अधिकतर सफल रहती हैं क्योंकि यह जीवन का सुनहरा दौर माना जाता है। जो उससे गुजर चुके हैं उन्हें अपने पुराने दिन याद आ जाते हैं और जो गुजर रहे हैं वो अपने वर्तमान को स्क्रीन पर देख खुश होते हैं।

मिशन मंगल: फिल्म समीक्षा

मिशन मंगल की पहली स्लाइड ही थोड़ा डरा देती है जिसमें लिखा है यह फिल्म मंगल मिशन अभियान पर आधारित है, लेकिन मनोरंजन के लिए कल्पना का सहारा लिया गया है। अब यह मनोरंजन की आड़ में पतली गली कब हाईवे बन जाए कहा नहीं जा सकता।

जबरिया जोड़ी: फिल्म समीक्षा

छोटे शहरों की कहानियों पर आधारित कुछ फिल्में क्या सफल हुईं कि बालाजी फिल्म्स के कर्ता-धर्ताओं को लगा कि यह सफलता का फॉर्मूला है और उन्होंने 'जबरिया जोड़ी' नामक फिल्म दर्शकों पर थोप डाली जो किसी टॉर्चर से कम नहीं है।

एक्शन सीन्स पर पानी की तरह बहाया पैसा, साहो से निराश होंगे प्रभास के डाई हार्ट फैन

मेकर्स ने साहो पर पानी की तरह पैसा बहाया. एक्शन और स्टंट सीन्स को हॉलीवुड लेवल का बनाने के लिए इंटरनेशनल एक्शन डायरेक्टर और उनकी टीम को बुलाया गया. प्रोजेक्ट को ग्रैंड बनाने के लिए बॉलीवुड एक्टर्स की लंबी चौड़ी फौज को जोड़ा. मगर. आखिर में फिल्म देखकर जो हाथ लगा...वो है निराशा.

फिल्म समीक्षा बाटला हाउस

बॉलीवुड ने असल जिंदगी की कहानी की तलाश की और फिल्म बाटला हाउस को पाया. इस फिल्म के नायक हैं दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के एसीपी संजीव कुमार यादव (जॉन अब्राहम). फिल्म की शुरुआत होती है 19 सितम्बर, 2008 से.

Kabir Singh Review: प्यार के जुनून में गुस्से का है तड़का, शाहिद और कियारा की कैमेस्ट्री जबरदस्त

Kabir Singh Movie Review: आज शाहिद कपूर की मचअवेटेड फिल्म 'कबीर सिंह' रिलीज हो गई है. अगर आप इस वीकेंड फिल्म देखने का मन बना रहे हैं तो देखने जाने से पहले पढ़ें इसका रिव्यू...

More Articles ...